All The Northern Famous Indian Cricket Players Name

North Zone cricket Team-Notable Players From North Zone

1. Kapil Dev

smartknowledgesk.com

कपिल देव  एक Northern Famous क्रिकेट खिलाड़ी है। भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी “कपिल देव” क्रिकेट की दुनियाँ का एक ऐसा खिलाड़ी हैं, जिनको क्रिकेट में सर्वोच्य एवं सम्मानीय दर्जा प्राप्त है। यही एक ऐसा प्रथम महान है खिलाड़ी ने भारत में पहली बार क्रिकेट वर्ल्ड कप लाने का काम किया था, जिसको उस समय किसी ने भी सपने में भी नहीं सोचा था. इन्होंने साल 1999 एवं साल 2000 के बीच 10 महीने तक भारत के कोच की भूमिका निभाई थी. हरियाणा तूफान के नाम से जाने वाले इस क्रिकेटर को क्रिकेट पिच पर कभी भी रन आउट होते हुए नहीं देखा गया था. इस खिलाड़ी ने अपनी फिटनेस पर इतना ध्यान दिया हुआ था कि सेहत की वजह से इन्हें कभी भी टेस्ट मैच से बाहर नहीं किया गया. कपिल देव दाएं हाथ के बल्लेबाज होने के साथ साथ दाएं हाथ के तेज गेंदबाज भी थे, जो तेजी से रन बनाना पसंद करते थे। 

2. Gautam Gambhir

smartknowledgesk.com

गुटम गंभीर एक Northern Famous क्रिकेट खिलाड़ी है। गौतम गंभीर का नाम उन खिलाड़ियों में सबसे आगे है जो अधिकतर काम के मैचों में बरसते हैं। गौतम गंभीर मुख्यरूप से एक बल्लेबाज जो बायें हाथ से बल्लेबाजी करते हैं। वे एकमात्र ऐसे भारतीय और चार अंतरराष्ट्रीय खिलाडियों में से एक है जिन्होंने टेस्ट मैच में लगातर पाँच शतक मारे है। वे एकमात्र ऐसे भारतीय बल्लेबाज है जिन्होंने लगातार 4 टेस्ट सीरीज में 300 से भी ज्यादा रन बनाए। भारत सरकार ने 2008 में गंभीर को अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया। वर्तमान में गौतम गंभीर भारतीय जनता दल BJP का एक नेता हैं। 

3. Dinesh Mongia

दिनेश मोंगिआ  एक Northern Famous क्रिकेट खिलाड़ी है। दिनेश मोंगिया का जन्‍म 17 मई 1977  हुआ था।  मोंगिया ने अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में 28 मार्च 2001 को ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ कदम रखा था. उन्‍होंने भारत के लिए 57 वनडे खेलने के अलावा एक टी20 अंतरराष्‍ट्रीय मैच भी खेला. वनडे क्रिकेट में उन्‍होंने 27.95 की औसत से 1230 रन बनाए. इसमें एक शतक और 4 अर्धशतक शामिल रहे. वहीं इकलौते टी20 मैच में उन्‍होंने 38 रन की पारी खेली. वनडे क्रिकेट का इकलौता शतक उन्‍होंने मार्च 2002 में गुवाहाटी में जिम्‍बाब्‍वे के खिलाफ बनाया था. तब उन्‍होंने ओपनिंग करते हुए 147 गेंद पर 17 चौकों और एक छक्‍के की मदद से नाबाद 159 रन बनाए थे। आज भले ही टी20 क्रिकेट में किसी भी भारतीय खिलाड़ी का जलवा हो, लेकिन सबसे पहला टी20 मैच खेलने वाले भारतीय खिलाड़ी दिनेश मोंगिया ही हैं। 

4. Virender Sehwag

वीरेंदर सेहवाग एक Northern Famous क्रिकेट खिलाड़ी है। वीरेंदर सहवाग का जन्म 20 अक्टूबर 1978 को हुआ था। ये एक मध्यम परिवार से थे। इनके पिता किशन सहवाग और माता कृष्णा सहवाग है। ये हरियाणा के मूल निवासी है परन्तु बाद में इनका परिवार दिल्ली चला गया था। इनका बचपन से ही इस खेल में रुझान था। इसलिए उनके पिता ने उनको खिलोने वाली छोटी बैट लाकर दे दी। स्कूल के बाद वे अपने दोस्तों के साथ क्रिकेट खेलने लगे और धीरे धीरे वे इस खेल में निपुण हो गये। सहवाग क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर को अपना मार्गदर्शक मानते हैं। चुनौतीपूर्ण परिस्थितिया भी उनके पक्के इरादों को विचलित नही कर पाई। कई लोग उन्हें नजफगढ़ का नबाब भी बोलते है।

5. Ishant Sharma

इशांत शर्मा एक Northern Famous भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी हैं। जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट, एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय (वनडे) और ट्वेन्टी २० में भारत का प्रतिनिधित्व किया है। वह दाहिने हाथ से मध्यम तेज गेंदबाजी करते है। इशांत शर्मा का जन्म 02 सितंबर 1988 को हुआ था। 18 साल की उम्र में, इशांत शर्मा को 2006 -2007  में दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए भारतीय टीम में शामिल किया गया था । लेकिन  उन्हें उस दौरे के लिए नहीं भेजा गया था। इशांत शर्मा को अपने कद और दुबले-पतले शरीर के कारण उन्हें लंबू नाम से भी पुकारा जाता था। हम आपको बता दें की 2011 में, वह 100 टेस्ट विकेट लेने वाले पांचवें सबसे युवा खिलाड़ी बने। पुनः 2013 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ, ईशांत शर्मा वनडे में सबसे तेज 100 विकेट लेने वाले पांचवें भारतीय बने। एक “रिदम वाले” गेंदबाज होने के साथ, उन्हें अभी सबसे तेज भारतीय गेंदबाजों में से एक माना जाता है, जिन्होंने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट और आईपीएल में कई मौकों पर 150 किलोमीटर प्रति घंटे से अधिक की गेंदबाजी की है, साथ ही साथ उन्होंने रिकी पोंटिंग के खिलाफ फेंकी 2011 में बॉक्सिंग डे टेस्ट में 152.2  किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद फेंकी थी।

6. Navjot Singh Sidhu

नवजोत सिंह सिद्धू  एक Northern Famous क्रिकेट खिलाड़ी है। सिद्धू का जन्म पटियाला, पंजाब, भारत में हुआ था। उनके पिता, सरदार भगवंत सिंह एक अच्छे क्रिकेट खिलाड़ी थे और अपने बेटे नवजोत को एक शीर्ष श्रेणी के क्रिकेटर के रूप में देखना चाहते थे। सिद्धू यादवेंद्र पब्लिक स्कूल, पटियाला के पूर्व छात्र हैं। उन्होंने मुंबई में एचआर कॉलेज ऑफ कॉमर्स एंड इकोनॉमिक्स में अध्ययन किया। नवजोत सिंह सिद्धू एक बहुत अच्छा शायर भी है। सिद्धू लोगों के बिच स्पोर्ट शायरी करने में  प्रसिद्द हैं। और अब वो क्रिकेट दुनिया से रिटायर होकर राजनीती में आ गए हैं। सिद्धू 2004 में भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर अमृतसर से लोकसभा के सदस्य के रूप में चुने गए; बाद में उन्होंने 2006 में अपनी दोषसिद्धि के बाद इस्तीफा दे दिया। सुप्रीम कोर्ट द्वारा उनकी सजा पर रोक लगाने के बाद, उन्होंने अपने कांग्रेस प्रतिद्वंद्वी, राज्य के वित्त मंत्री सुरिंदर सिंगला को 77,626 मतों से हराकर, अमृतसर लोकसभा सीट से सफलतापूर्वक चुनाव लड़ा। वह विश्व जाट आर्यन फाउंडेशन के वर्तमान अध्यक्ष भी हैं। वैसे कहा जाता है की पंजाबी नॉनवेज खाने में काफी माहिर होते हैं हैं लेकिन नवजोत सिंह सिद्धू शाकाहारी है। उन्होंने नवजोत कौर सिद्धू से शादी की है, जो एक डॉक्टर और पंजाब विधानसभा की पूर्व सदस्य हैं। दंपति के दो बच्चे हैं। जिसमे बेटी का नाम राबिया और बेटा का नाम करण है। 

7. Harbhajan Singh

हरभजन सिंह एक Northern Famous क्रिकेट खिलाड़ी है। हरभजन सिंह का जन्म 3 जुलाई 1980 को हु था। इन्हे लोग संछिप्त में भज्जी के नाम से भी बुलाते हैं। हरभजन सिंह एक पूर्व भारतीय क्रिकेटर हैं, जिन्होंने भारत के लिए क्रिकेट के सभी प्रारूप खेले हैं। भज्जी क्रिकेट कमेंटेटर और एक अभिनेता भी हैं, जो मुख्य रूप से तमिल फिल्मों में काम करते हैं, और  एक विशेषज्ञ स्पिनर हैं। वैसे तो वे all-rounder हैं बोलिंग के साथ – साथ एक बहुत अच्छा bats man भी हैं। 

हरभजन सिंह ने 1998 की शुरुआत में अपना टेस्ट और एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय (ODI) पदार्पण किया था। उनका करियर शुरू में उनके गेंदबाजी एक्शन की वैधता की जांच के साथ-साथ कई अनुशासनात्मक घटनाओं से प्रभावित हुआ था। हालांकि, 2001 में, प्रमुख लेग स्पिनर अनिल कुंबले के घायल होने के साथ, भारतीय कप्तान सौरव गांगुली द्वारा बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी टीम में शामिल करने के लिए बुलाए जाने के बाद हरभजन के करियर को पुनर्जीवित किया गया था। ऑस्ट्रेलिया पर उस श्रृंखला की जीत में, हरभजन ने 32 विकेट लेकर टीम के प्रमुख स्पिनर के रूप में खुद को स्थापित किया, टेस्ट क्रिकेट में हैट्रिक लेने वाले पहले भारतीय गेंदबाज बन गए। उनके 2001 के क्रिकेट प्रदर्शन के बाद, उन्हें पंजाब सरकार द्वारा पंजाब पुलिस में एक पुलिस उपाधीक्षक की भूमिका की पेशकश की गई, लेकिन हरभजन सिंह द्वारा इसका पालन न करने के कारण, बाद में इसे वापस ले लिया गया।

हरभजन सिंह 2012-13 के रणजी ट्रॉफी सीजन के लिए चुने गए। आईपीएल टीम मुंबई इंडियंस और पंजाब के कप्तान थे। उनकी कप्तानी में, मुंबई इंडियंस ने 2011 के चैंपियंस लीग ट्वेंटी 20 जीता है।  

8. Yuvraj Singh 

युवराज सिंह एक Northern Famous क्रिकेट खिलाड़ी है। युवराज सिंह का जन्म 12 दिसंबर 1981 हुआ था। युवराज पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज और पंजाबी अभिनेता योगराज सिंह के बेटे हैं। युवराज सिंह को लोग युवी के नाम से भी जानते हैं। यह एक पूर्व भारतीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर हैं, वह एक ऑलराउंडर है जो मध्य क्रम में बाएं हाथ से बल्लेबाजी करता है और धीमी गति से बाएं हाथ के रूढ़िवादी गेंदबाजी करता है। जिन्होंने खेल के सभी प्रारूपों में खेला है। खेल खेलने वाले सबसे बड़े सीमित ओवरों के खिलाड़ियों में से एक, युवराज विशेष रूप से अपने आक्रामक और सुरुचिपूर्ण स्ट्रोक खेलने और भारत के लिए मैच जीतने वाले हरफनमौला प्रदर्शन के लिए जाने जाते थे। उन्होंने 2011 आईसीसी क्रिकेट विश्व कप में 362 रन बनाए और 15 विकेट लिए और मैन ऑफ द सीरीज का पुरस्कार जीता। वह 2007 के ICC वर्ल्ड T20 में भी शीर्ष प्रदर्शन करने वालों में से एक थे, जिसमें से दोनों में भारत ने जीत हासिल की थी। उन्होंने ODI क्रिकेट में 7 प्लेयर ऑफ़ द सीरीज़ पुरस्कार जीते हैं, जो किसी भारतीय द्वारा संयुक्त रूप से दूसरा सर्वोच्च है।

यह भी पढ़ें 

How to setup rock space wifi extender in hindi ?

युवराज 2000 और 2017 के बीच एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय (ODI) में भारतीय क्रिकेट टीम के सदस्य थे और उन्होंने अपना पहला टेस्ट मैच अक्टूबर 2003 में खेला था। वह 2007 और 2008 के बीच भारतीय एकदिवसीय टीम के उप-कप्तान थे। युवराज सिंह ने 6 गेंदों में 6 छक्के मारे थे। एक मैच में 2007 के विश्व टी20 में इंग्लैंड के खिलाफ उन्होंने स्टुअर्ट ब्रॉड द्वारा फेंके गए एक ओवर में छह छक्के मारे, एक ऐसा कारनामा जो पहले केवल तीन बार सीनियर क्रिकेट में किया गया था, और कभी भी टेस्ट मैच की स्थिति वाली दो टीमों के बीच अंतरराष्ट्रीय मैच में नहीं किया गया था। उसी मैच में, उन्होंने ट्वेंटी २० अंतरराष्ट्रीय और सभी टी २० क्रिकेट में सबसे तेज अर्धशतक का रिकॉर्ड बनाया, 12 गेंदों में 50 रन तक पहुंच गए। 2011 विश्व कप के दौरान, वह 5 विकेट लेने वाले और उसी विश्व कप मैच में 50 रन बनाने वाले पहले खिलाड़ी बने।

9. Lala Amarnath

लाला अमरनाथ एक Northern Famous क्रिकेट खिलाड़ी है। लाला अमरनाथ भारद्वाज का जन्म 11 सितंबर 1911 को हुआ था। 5 अगस्त 2000 को वो हमें दुनियाँ से अलविदा कह गए। लाला अमरनाथ भारतीय क्रिकेट के पिता के रूप में जाना जाता है, टेस्ट क्रिकेट में भारत के लिए शतक बनाने वाले पहले बल्लेबाज थे। उन्हें भारत सरकार द्वारा पद्म भूषण से भी सम्मानित किया गया था। वह स्वतंत्र भारत के पहले क्रिकेट कप्तान थे और 1952 में पाकिस्तान के खिलाफ पहली टेस्ट श्रृंखला जीत में भारत की कप्तानी की।

हम आपको बता दें की लाला अमरनाथ द्वितीय विश्व युद्ध से पहले केवल 3 टेस्ट मैच खेले और इस तरह अपने सभी प्रमुख वर्ष खो दिए क्योंकि भारत ने कोई आधिकारिक टेस्ट मैच नहीं खेला। इस समय के दौरान उन्होंने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 30 शतकों के साथ लगभग 10,000 रन बनाए थे, जिसमें ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड की टीमें शामिल थीं, जिनमें कुछ सबसे प्रमुख टेस्ट खिलाड़ी शामिल थे। युद्ध के बाद उन्होंने भारत के लिए 21 और टेस्ट मैच खेले। उस समय के प्रमुख ऑलराउंडरों में से एक, वह बाद में वरिष्ठ चयन समिति, बीसीसीआई के अध्यक्ष बने और एक कमेंटेटर और विशेषज्ञ के रूप में भी खेल की सेवा की। वह चंदू बोर्डे, एम.एल. जैसे कई युवाओं को संवारने में जिम्मेदार थे। जयसिम्हा, जसु पटेल आदि जो भारत के लिए खेले। सुरिंदर और मोहिंदर अमरनाथ उनके बेटे हैं वो भी देश के लिए टेस्ट खिलाड़ी बने थे। उनके पोते दिग्विजय भी वर्तमान प्रथम श्रेणी के खिलाड़ी हैं।भारत सरकार ने उन्हें 1991 में पद्म भूषण के नागरिक सम्मान से सम्मानित किया था। 

10. Surinder Amarnath 

सुरिंदर अमरनाथ एक Northern Famous क्रिकेट खिलाड़ी है। सुरिंदर अमरनाथ भारद्वाज का जन्म 30 दिसंबर 1948 को हुआ था। सुरिंदर अमरनाथ एक पूर्व भारतीय क्रिकेटर हैं, जिन्होंने भारत के लिए अंतरराष्ट्रीय और घरेलू क्रिकेट खेला है। वह लाला अमरनाथ के सबसे बड़े पुत्र हैं।

क्रिकइन्फो के लेखक प्रताप रामचंद द्वारा “स्कूलबॉय कौतुक” और “उत्तम बाएं हाथ के” के रूप में वर्णित, उन्होंने 15 साल की उम्र से पहले प्रथम श्रेणी में पदार्पण किया। 18 साल की उम्र में उन्होंने लॉर्ड्स में एक ऐतिहासिक शतक बनाया। 1967 में, इंग्लैंड के स्कूली लड़कों के खिलाफ भारतीय स्कूली बच्चों की जीत के लिए मैच की आखिरी दो गेंदों पर छक्का लगाकर। उन्होंने 1976 में न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट डेब्यू पर शतक बनाया था।

11. Mohinder Amarnath

मोहिंदर अमरनाथ एक Northern Famous क्रिकेट खिलाड़ी है। सुरिंदर अमरनाथ भारद्वाज का जन्म 30 दिसंबर 1948 को हुआ था। वह लाला अमरनाथ के सबसे बड़े पुत्र हैं। वह एक पूर्व भारतीय क्रिकेटर हैं, जिन्होंने भारत के लिए अंतरराष्ट्रीय और घरेलू क्रिकेट खेला है। मोहिंदर अमरनाथ ने 18 साल की उम्र में उन्होंने लॉर्ड्स में एक ऐतिहासिक शतक बनाया। 1967 में, इंग्लैंड के स्कूली लड़कों के खिलाफ भारतीय स्कूली बच्चों की जीत के लिए मैच की आखिरी दो गेंदों पर छक्का लगाकर। उन्होंने 1976 में न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट डेब्यू पर शतक बनाया था।

12. Virat Kohli

विराट कोहली  एक Northern Famous क्रिकेट खिलाड़ी है। विराट कोहली इनको कौन नहीं जानता। प्यार से लोग इन्हे चीकू बॉय भी बुलाते हैं। विराट कोहली का जन्म 5 नवंबर 1988 को हुआ था। विराट कोहली भारतीय क्रिकेटर और भारत की राष्ट्रीय टीम के वर्तमान कप्तान हैं। दाएं हाथ के शीर्ष क्रम के बल्लेबाज, कोहली को दुनिया के सर्वश्रेष्ठ समकालीन बल्लेबाजों में से एक माना जाता है। वह घरेलू क्रिकेट में दिल्ली के लिए और इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए 2013 से फ्रेंचाइजी के कप्तान के रूप में खेलते हैं।

विराट कोहली ने मलेशिया में 2008 अंडर -19 विश्व कप में जीत के लिए भारत के अंडर -19 की कप्तानी की। कुछ महीनों के बाद, उन्होंने 19 साल की उम्र में श्रीलंका के खिलाफ भारत के लिए एकदिवसीय क्रिकेट में पदार्पण किया। शुरुआत में भारतीय टीम में एक रिजर्व बल्लेबाज के रूप में खेलने के बाद, उन्होंने जल्द ही खुद को एकदिवसीय मध्य-क्रम में एक नियमित के रूप में स्थापित किया । उन्होंने 2011 में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया और 2013 तक ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट शतकों के साथ “वनडे स्पेशलिस्ट” के टैग से किनारा कर लिया। 2013 में पहली बार ODI बल्लेबाजों के लिए ICC रैंकिंग में नंबर एक स्थान पर पहुंचने के बाद, कोहली ने ट्वेंटी 20 प्रारूप में भी सफलता पाई। ICC विश्व ट्वेंटी 20, 2014 और 2016 में उन्होंने दो बार मैन ऑफ द टूर्नामेंट जीता है।

विराट कोहली को वर्ष 2012 में एकदिवसीय टीम का उप-कप्तान नियुक्त किया गया था। उसके बाद 2014 में महेंद्र सिंह धोनी के टेस्ट संन्यास के बाद टेस्ट कप्तानी सौंपी गई थी। 2017 की शुरुआत में, धोनी के पद से हटने के बाद वह सीमित ओवरों के कप्तान बने। एकदिवसीय मैचों में, कोहली के पास दुनिया में सबसे अधिक शतक और रन-चेज़ में सबसे अधिक शतक हैं। उनके नाम एकदिवसीय क्रिकेट में सबसे तेज 8,000, 9,000, 10,000, 11,000 और 12,000 रन बनाने का विश्व रिकॉर्ड है। भारतीय बल्लेबाजों में, कोहली की अब तक की सर्वश्रेष्ठ टेस्ट रेटिंग (937 अंक), ODI रेटिंग (911 अंक) और T20I रेटिंग (897 अंक) हैं। 

13. Bishen Singh Bedi

बिशेन सिंह बेदी एक Northern Famous क्रिकेट खिलाड़ी है। बिशन सिंह बेदी का जन्म 25 सितंबर 1946 को हुआ था। वह एक पूर्व भारतीय क्रिकेटर हैं जो मुख्य रूप से धीमे बाएं हाथ के रूढ़िवादी गेंदबाज थे। उन्होंने 1966 से 1979 तक भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट खेला और प्रसिद्ध भारतीय स्पिन चौकड़ी का हिस्सा बने। उन्होंने 22 टेस्ट मैचों में राष्ट्रीय टीम की कप्तानी भी की। उन्होंने कुल 67 टेस्ट मैच खेले और 266 विकेट लिए। बेदी ने रंगीन पटका पहना था और क्रिकेट के मामलों पर मुखर और स्पष्ट विचार व्यक्त किए हैं। उन्हें 1970 में पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

14. Aakash Chopra

आकाश चोपड़ा एक Northern Famous क्रिकेट खिलाड़ी है। आकाश चोपड़ा का जन्म 19 सितंबर 1977 को हुआ था। आकाश चोपड़ा एक भारतीय पूर्व क्रिकेटर हैं, जो 2003 के अंत से 2004 के अंत तक भारतीय क्रिकेट टीम के लिए खेले हैं। वह एक अच्छा क्रिकेट कमेंटेटर भी है। चोपड़ा ने 2003 के अंत में न्यूजीलैंड के खिलाफ अहमदाबाद में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया क्योंकि भारत ने अपने दिल्ली टीम के साथी वीरेंद्र सहवाग के लिए एक सलामी जोड़ीदार की तलाश की। चोपड़ा के अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत अच्छी रही, उन्होंने 2003/04 के दौरान मोहाली में दूसरे टेस्ट में न्यूजीलैंड के खिलाफ दो अर्धशतक बनाए थे। 2003-2004 के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर, उन्होंने वीरेंद्र सहवाग के साथ कई ठोस साझेदारियां कीं, जिसमें मेलबर्न और सिडनी में दो शतकीय ओपनिंग पार्टनरशिप भी शामिल है। नई गेंद को देखने में चोपड़ा के काम ने उन्हें उस श्रृंखला में भारत द्वारा जमा किए गए बड़े स्कोर का श्रेय दिया जब मध्य क्रम के बल्लेबाज राहुल द्रविड़, वी. वी. एस. लक्ष्मण, सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली ने नियमित रूप से बड़े शतक बनाए।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.