सद्गुरु के अनमोल विचार-Sadhguru-Satguru Quotes In Hindi

सद्गुरु के अनमोल विचार-Sadhguru-Satguru Quotes In हिंदी-सद्गुरु के प्रवचन : सद्गुरु जग्गी वासुदेव का जन्‍म 5 सितंबर 1957 को कर्नाटक राज्‍य के मैसूर शहर में एक तेलुगु भाषी परिवार में हुआ था। ११ वर्ष की उम्र में ही जग्गी वासुदेव ने योग का अभ्यास करना शुरु किया दिया था । श्री राघवेन्द्र राव, इनके योग गुरु या शिक्षक थे। जिन्‍हें मल्‍लाडिहल्‍लि स्वामी के नाम से जाना जाता है। सद्गुरु जग्गी वासुदेव जी ने मैसूर विश्‍वविद्यालय से उन्‍होंने अंग्रजी भाषा में स्‍नातक की उपाधि प्राप्‍त की।(सद्गुरु जग्गी वासुदेव के अनमोल विचार)

satguru-sadguru-quotes-in-hindi-jaggi-vasudev

ईशा फाउंडेशन  का स्थापना सद्गुरु जग्गी वासुदेव जी ने ही किया है। ईशा फाउंडेशन एक लाभ-रहित मानव सेवा संस्थान है जो लोगों की शारीरिक, मानसिक और आन्तरिक कुशलता के लिए समर्पित है। यह दो लाख पचास हजार से भी अधिक स्वयंसेवियों द्वारा चलाया जाता है। इसका मुख्यालय ईशा योग केंद्र कोयंबटूर में है।

सद्गुरु जग्गी वासुदेव जी के विचार हमारे जीवन को ऊर्जा से भर देते हैं। सद्गुरु एक आत्मज्ञानी योगी एवं दिव्यदर्शी हैं। सद्गुरु इनर इंजीनियरिंग प्रोग्राम के माध्यम से लोगो को आनंदमय बनने की तकनीक भेट करते हैं। हमें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करते हैं। उनके विचार हमारे जीवन में स्पष्टता लाते हैं।

सद्गुरु के ये विचार उनके द्वारा और उन्ही के विडिओ से लिए गये हैं तो आइये पढ़ते हैं।

सद्गुरु के अनमोल विचार ( Sadhguru Quotes In Hindi ) सद्गुरु के प्रवचन

विचार : 01 – Quote : 01

आत्मज्ञान का मतलब यह है आपने बस वो देख लिया जो पहले से मौजूद है। आपने कुछ खोजा नहीं है। आपने हर
उस चीज को, वैसे ही देखा है, जैसा वह है।
विचार : 01 – Quote : 02 
लोग कहते हैं कोई भी काम मेहनत कर के करें।। सद्गुरु वासुदेव जी कहते हैं, कोई भी काम प्रेम से करो और पूरी लगन से करो।

विचार : 01 – Quote : 03 

आपकी ख़ुशी, दुःख, पीड़ा और आनन्द आपके भीतर ही पैदा होता है। तो कम से कम ये सब चीजे आपके अनुसार
पैदा होने चाहिए।
विचार : 01 – Quote : 04  

आप अपने आप को एक बड़ी हस्ती समझते हैं लेकिन आप इस धरती पर आप एक बुलबुले की तरह हैं और एक दिनआप बुलबुले की तरह गायब हो जाएँगे।

विचार : 01 – Quote : 05 

 

आप अपने भीतर छोटी-छोटी चीज के बारे में इतना संघर्ष पैदा कर लेते हैं कि कही आपसे कुछ गलत न हो जाय। आप यह 100% नहीं जानते कि आप जो भी कर रहे हैं वह सही होगा। आपके लिए बस यह महत्वपूर्ण होना चाहिए जो भी आप कुछ कर रहे है वह आपको और आपके आसपास लोगो को खुशियाँ देगा। उस काम में अपनी पूरी ऊर्जा लगा दीजिये।

विचार : 01 – Quote : 06 

जीवन के आखरी दिन तक आप तय नहीं सकते कि क्या सही है, क्या गलत है। क्योकि कोई न कोई होगा जो आप
से कहेगा कि आप गलत कर रहे हैं।

विचार : 01 – Quote : 07 

अपना समय सही निर्णय और गलत निर्णय चुनने में मत लगाइये। जब आप संतुलित, स्पष्ट हों और खुश हों तभी कोई निर्णय लीजिये और अपना जीवन उसमे लगा दीजिये। कुछ न कुछ शानदार होगा।

विचार : 01 – Quote : 08 
तनाव काम की वजह से नहीं होता है तनाव इसलिए होता है क्योकि आप अपने ही सिस्टम को संभालना नहीं जानते।आप नहीं जानते की अपने शरीर भावना और मन को कैसे संभाल कर रखना है।
विचार : 01 – Quote : 09 

 

अगर आपकी जब बुद्धि असीमित है तो सब कुछ आपके पहुंच में होगा।
विचार : 01 – Quote : 10 
अगर आपकी बुद्धि काम करती तो आप अपने लिए क्या चुनते ? आनंद या तनाव। जाहिर सी बात है आनंद। अगर आप तनाव में हैं इसका मतलब अपने बुद्धि को तनाव के लिए चुन लिया है। यह आप पर निर्भर करता है की आप
क्या चुनते हैं।
विचार : 01 – Quote : 11 

 

ये बात युवाओं को याद रखनी चाहिए। जल्दी जीने की कोशिश मत कीजिए। जीने का समय आयेगा। अगर आप अच्छी तरह जीना चाहते है तो सबसे पहले आप अपने आप को पूरी तरह विकसित कीजिये।

विचार : 01 – Quote : 12 
आप प्रेम में ऊँचे नहीं उड़ सकते केवल आप गिर सकते हैं  प्रेम में गिरने का मतलब आपने अपने एक हिस्से
को गिरा दिया यानि अपने एक हिस्से को दूसरे के लिए खोल दिया है।
विचार : 01 – Quote : 13 

यही प्रकृति का नियम है। अगर आप क्रोध, नाराजगी, घृणा अपने अंदर पैदा करते हैं और आप किसी और के मरने की उम्मीद करते हैं, तो ऐसा नहीं होने वाला है। क्योकि अगर आप यह सब अपने अंदर पैदा करेंगे तो पहले आप मरेंगे। अगर जहर आप पियेंगे, तो आप मरेगे, कोई और नहीं।

विचार : 01 – Quote : 14 
अगर आपने अपने भौतिक शरीर पर महारत हासिल कर ली तो 15 से 20 प्रतिशत भाग्य आपके हाथ में होगा। अगर आपने, अपने मानसिक प्रक्रिया को अपने हाथ में ले लिया है तो 50 से 60 प्रतिशत भाग्य आपके हाथ में होगा। और अगर आपने जीवन की बुनियादी ऊर्जा को अपने हाथ में ले ले तो 100 प्रतिशत भाग्य आपके हाथ में होगा। –
विचार : 01 – Quote : 15
यदि आपका शरीर अच्छा महसूस करता है तो हम उसे सेहत कहते हैं। यदि वह बहुत अच्छा महसूस करता है तो उसे सुख कहते हैं। अगर आपका मन सुख में हो जाये तो इसे शांति कहते हैं। यदि वह बहुत खुश हो जाय तो उसे हम खुशी कहते हैं। अगर आपकी भावनाये मधुर हो जाय तो इसे प्यार कहते हैं। अगर वह बहुत मधुर हो जाय तो उसे करुणा कहते हैं। यदि आपकी जीवन ऊर्जा ही सुखद हो जाय तो उसे हम आनंद कहते है। अगर यह बहुत सुखद हो जाय तो इसे परमानन्द कहते हैं। अगर आसपास का माहौल सुखद हो जाय तो इसे सफलता कहते हैं।
विचार : 01 – Quote : 16 
अगर आपका ध्यान काफी तेज़ है और आप कोई खास काम करना चाहें हैं , तो आपको सफलता ज़रूर मिलेंगी।
विचार : 01 – Quote : 17 

कर्म का मतलब किस्मत के भरोसे रहना नहीं है, कर्म का मतलब है अपने किस्मत का मालिक खुद बनना।

विचार : 01 – Quote : 18 
अगर आप पर्याप्त ध्यान दे तो ऐसा कुछ नहीं है, जिसे आप नहीं जान सकते।
विचार : 01 – Quote : 19 
यह ब्रह्माण्ड उनके लिए अपनी दरवाज़े खोलता है जो पर्याप्त ध्यान देते हैं। – सद्गुरु जग्गी वासुदेव जी
विचार : 01 – Quote : 20 
मानव बुद्धि अपने चरम पर तब होती है जब वह कुछ नहीं जानती। अगर आप सोचे आपको सब पता है तो हर चीज के अंतिम निष्कर्ष पर पहुंच जायेंगे। फिर किसी चीज की जानने की संभावना ख़त्म हो जाती है।
विचार : 01 – Quote : 21 

चाहे आप जीवन में सबसे भयंकर परिस्तितियों से गुजर रहे हैं। आप उस परिस्तितियों का उपयोग करके एक
बेहतर इन्सान बन सकते हैं या अपने जीवन को अस्त-व्यस्त कर सकते हैं।

विचार : 01 – Quote : 22 
चाहे आप जीवन में सबसे भयंकर परिस्तितियों से गुजर रहे हैं। आप उस परिस्तितियों का उपयोग करके एक बेहतर इन्सान बन सकते है या अपने जीवन को अस्तव्यस्त कर सकते हैं।
विचार : 01 – Quote : 23 

केवल बाहरी कम्फर्ट आपके जीवन को ठीक नहीं कर सकती आपको भीतरी व्यवस्था को भी ठीक करना होगा ताकि आपको नर्क में भी भेजा जाय तो वहां भी ख़ुशी-ख़ुशी रह सकें।

विचार : 01 – Quote : 24 
हर कोई चेतन है लेकिन सवाल यह है कि कितना प्रतिशत आप जगे हुए हैं। – सदगुरु जग्गी वासुदेव
विचार : 01 – Quote : 25 

अगर आप एक चींटी को भी देखे तो जिसने भी चींटी की रचना की है, उसने उतना ही ध्यान उसको बनाने में दिया
जितना ध्यान आदमी को बनाने में दिया है।

विचार : 01 – Quote : 26 
जीवन में हजारों समस्या है लेकिन आप खुद अपने लिए कोई समस्या न हो। अगर आप आनंद में है तो आप खुद
अपने जीवन के लिए समस्या नहीं होंगे।
विचार : 01 – Quote : 27
अगर आपके पास संतुलन है तो आप ऊचाई पर चढ़ सकते है वरना जमीन पर रहना ही ठीक है। बिना संतुलन के
आज़ादी अराजकता है।
विचार : 01 – Quote : 28 
जीत में विनम्र रहना और हार में भी गरिमा बनाये रखना, यह महान लोगों की पहचान है। एक महान राष्ट्र बनाने के
लिए महान लोगो ही जरूरत होती है।
विचार : 01 – Quote : 29 
जीवन का मतलब है, आपका नहीं पता कल क्या होगा। आप यहाँ जीवन का अनुभव करने आये हैं न कि जीवन से
बचने के लिए। यह जीने का वक्त है।
विचार : 01 – Quote : 30 
जल्दबाजी में कोई निर्णय नहीं लें । जब आप शांत, खुश और स्पष्ट हो और अपने आस पास की चीजों से प्रभावित
हुए बिना, कोई निर्णय लें।
विचार : 01 – Quote : 31
कोई इन्सान क्या कर सकता है, इसकी कोई सीमा नहीं होती है। क्योंकि इन्सान लगातार अपनी क्षमता बढ़ा सकता
है।
विचार : 01 – Quote : 32 

आप इस बात से डरते हैं कि कल मैने जैसे सोचा था, वैसा नहीं हुआ तो क्या होगा। – सद्गुरु जग्गी वासुदेव

विचार : 01 – Quote : 33 

ऊर्जावान होना और स्थिरता कायम रखना, अगर ये दो चीज़े आप कर ले बाकी चीज अपने आप हो जाएगा।

विचार : 01 – Quote : 34 
कोई भी नहीं जनता कि भविष्य में क्या होगा। तो आप अपने जीवन को पहले से तय करने कि कोशिश न करे। चाहे
भविष्य में जो भी हो, आप यहाँ खाली हाथ आयें थे और खाली हाथ ही जायेंगे।
विचार : 01 – Quote : 35 
मैंने यह अधिकार किसी और को नहीं दिया जो मेरी खुशी और दुःख को तय कर सके। हमे सबकी राय सुनना है
लेकिन वे यह तय नहीं कर सकते कि मैं क्या हूँ।
विचार : 01 – Quote : 36 
अगर आप जानते हैं कि अभी इस पल को कैसे संभालना है तो आप जान जायेंगे कि पूरे जीवन को कैसे संभलना है।
विचार : 01 – Quote : 37 
प्रार्थना कोई काम नहीं है। यह एक गुण है। प्रार्थना कोई ऐसी चीज नहीं है जिसे आप करते हैं। यह ऐसी चीज है जो
आप बन जाते हैं।
विचार : 01 – Quote : 38 
उत्तरदायित्व का मतलब है कि आप जीवन में जिस भी स्थिति में हो, आप अपनी सर्वोत्तम क्षमता से उसे रिस्पॉड
कर (उत्तर दे) पाए।
विचार : 01 – Quote : 39 

आपका मन एक ऐसा साधन है, जो तभी सबसे अच्छा काम करता है जब इसमें स्पष्टता हो।

विचार : 01 – Quote : 40 

एक रोगी रात में नहीं सोयेगा। एक भोगी रात में नहीं सोयेगा। और एक योगी भी रात में नहीं सोयेगा। क्योकि इन
सब के लिए रात बहुत सहायक होती है।

विचार : 01 – Quote : 41
जीवन में आप जो अंतिम चीज करेंगे वह है मृत्यु। तो क्या आप इसे शालीनता के साथ नहीं करेंगे।
विचार : 01 – Quote : 42 

 

मृत्यु अचानक घटित नहीं होता है। यह निरंतर घटित हो रहा है, बस आप इससे अनजान हैं। जीवन और मृत्यु कोई
अलग-अलग चीज नहीं है। आप हल पल मृत्यु के नजदीक जा रहे हैं।

विचार : 01 – Quote : 43 
खुद को सुरक्षित करने के लिए जो आप दीवारे बनाते हैं। थोड़े समय बाद वे आपके लिए कैद बन जाती है।
विचार : 01 – Quote : 44
अगर कोई अपनी सीमाएं भौतिक रूप में तोड़ना चाहे तो हम उसे सेक्स कहते हैं। अगर यह भावना में वयक्त होता है तो इसे हम प्रेम सम्बन्ध कहते हैं। यदि हम इसे मानसिक रूप में अभियक्ति करे तो इसे हम सफलता कहते हैं और यह जागरूक रूप में प्रकट होती है तो इसे हम योग कहते हैं।
 
विचार : 01 – Quote : 44
 
अगर आपके आसपास की कोई चीज या कोई व्यक्ति आपकी ख़ुशी, आनंद और दुःख को तय करता है। तो आपके
खुश होने की संभावना बहुत कम है।
सद्गुरु जग्गी वासुदेव जी 
0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.