What is On Page SEO in Hindi ?

What is SEO in Hindi ?

प्रिय दोस्तों,
जैसा की हम सब जानते हैं की एस ई ओ (SEO) सर्च इंजीन ऑप्टिमाइजेशन (Search Engine Optimization) हम किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग (Website or Blog) को Google Search में रैंक कराने के लिए किया जाता है। वेब पोस्ट को रैंक कराने के लिए कई तरीके होते हैं, उनमे से पहला सबसे बेस्ट है Onpage SEO। तो चलिए जानते हैं की Onpage SEO क्या है और इसे कैसे प्रयोग किया जाता है।

smartknowledgesk.com

On page SEO Kya Hota Hai Kaise Karen hindi me ?

On-page SEO किसी भी वेबसाइट के पोस्ट या किसी भी ब्लॉग पोस्ट को सर्च इंजन के लिए ऑप्टिमाइज़ Optimize करने के लिए किया जाता है। जिससे की वेबसाइट या ब्लॉग पोस्ट के पेजेज Pages सर्च इंजन में रैंक हो सके। Onpage SEO में ब्लॉग को Heading Tags हैडिंग टैग्स और Images इमेज को Alt Tags ऑल्ट टैग्स और KeyWords Density की-वर्ड्स डेंसिटी, Meta Tags मेटा टैग्स को Optimize ऑप्टिमाइज़ किया जाता है। इसी प्रक्रिया को हम Onpage SEO कहते हैं।

SEO Technics । Check List । On-Page SEO Technics in Hindi

  1. Title Optimize (Title Tag को Optimize करना )
  2. Heading Tag को Optimize करना
  3. सबसे पहले Keyword Research करें LSI Keywords लिखने से पहले 
  4. Image Optimize (Images को Optimize करना )
  5. Outbound link
  6. Internal Link  
  7. No Follow Link
  8. What is UGC (User Generated Content) ?
  9. Page Speed Check
  10. Words Count
  11. Extra Tips Keyword Research Tools In Hindi
  12. Advanced SEO Tips in Hindi & What is SEO In Hindi ?
  13. Featured Snippets In Hindi
smartknowledgesk.com
(1) Title Optimize – Title Tag को Optimize करना 

Title Tag को Optimize करें On page SEO पर Title Tag बहुत ranking factor होता है इसमें आपको Multiple keywords का उपयोग करना चाहिए। primary and secondary keywords Target किजिए। आपका फोकस keyword पर अच्छे से हों चाहिए। 

उदाहरण के लिए :

Primary Keyword : On Page SEO In Hindi

Secondary Keyword : keyword On Page SEO क्या है ?

हम आपको बता दे की H1 Tag को ही Title Tag कहा जाता है।

Permalink – URL Optimize My URL On Page SEO In Hindi

Webpage के URL को Permalink भी बोला जाता है। Website के Blog post URL short होना चाहिए। On Page SEO in Hindi Blog post के Permalink पर capital words उपयोग नहीं करना चाहिए इससे On-page SEO ranking पर असर पडता है। 

हम आपको बता दें की इनका उपयोग कंही – कंही पर capital में किया जाता है। 

उदाहरण के लिए : on page SEO in Hindi details

Permalink URL पर आपका Target keywords आना चाहिए। 

Long Permalink URL की तुलना में Short Permalink URL Search Engine में जल्दी rank करता है।

2. Heading Tag को Optimize करना 

यदि आप सही तरीके से Heading Tag का उपयोग करते हैं तो आपका Traffic दुगना हो सकता है “on page seo in Hindi for website”

और आपका कंटेंट संर्च ईजन पर Top पेज पर आने का संभावना बहुत अधिक बढ़ जाता है। 

अपने Target  Keywords पर Heading tag का उपयोग कीजिए। 

H1 Heading tag एक webpage के लिए सिर्फ एक बार ही H1 tag का उपयोग होना चाहिए। 

Target Keywords को उपयोग कीजिए। 

H2 Heading tag पर Target Keywords आना चाहिए. H2 tag 2 या 3 बार उपयोग कीजिए.

H3 Heading tag non target keyword के लिए उपयोग कीजिए.

H4  Heading tag  Jump link उपयोग कर सकते है।

3. सबसे पहले Keyword Research करें LSI Keywords लिखने से पहले 

LSI  का फुल फॉर्म Latent Semantic indexing keywords मतलब यह सर्च Query से मिलते जुलते Keywords होते हैं। 

उदाहरण के लिए :

H1 Tag Title Tag – What is SEO Content writig in hindi ?

H2 Tag Title Tag – SEO Content writig in hindi ?

H3 Tag Title Tag – What is SEO Content writig in hindi 2022? 

LSI keywords impotent है, और यह LSI keywords शब्द की सहयाता से Google website की ranking देता है। कुछ लोगो का प्रश्न होता है की क्या LSI keyword google में show होते हैं ? तो हम आपको बता दें की जी हाँ LSI keywords Google में show होते हैं।

4. Image Optimize (Images को Optimize करना )
Image या फोटो Optimize के लिए आप सही alt tag का उपयोग करें जिससे की crawler जो है alt tag को Read कर सकता है।
याद रखिएगा alt tag की length आधिक नही होनी चाहिए। Good alt tag की length 3, 4 and 5 words होनी चाहिए।
उदाहरण के लिए :
<img src=” fonder name use” alt=” on page seo Hindi”/>

इस बात को आप ध्यान रखें की आपकी image की साइज आधिक kb की नहीं होनी चाहिए। अधिक kb वाली images लोड होने में time लागती है। इससे आपकी website या blog को open होने में time लगता है। 

हम आपको बता दें की  आप अपने वेबसाइट के लिए image size 25kb से 100kb तक या फिर इनके बीच ही रखें।

5. Outbound link

आप अपने Blog post के लिए एक famous website को चुनें और उनको लिंक दें जैसे, Wikipedia and news website जब आप other domain or website को लिंक देते हैं तो उसे Outbound link बोला जाता है। 

Outbound Link – Hindi on page SEO के लिए सही होता है। एक website के एक Blog post लिए कम से कम 2, ya 3 outbound link होना चाहिए जिससे की on page seo perfect हों।

6. Internal Link – आंतरिक लिंक

लॉग पोस्ट के लिए एक ही एक वेबसाइट के डोमेन से पेंज के लिए जो लिंक करना है उसे पूरा करना है।

इंटरनल वेलकम है। SEO रैंकिंग के लिए आप की ब्लॉग पोस्ट पर महत्वपूर्ण है।
इंटरलिंक का, आप अपने ब्लॉग पोस्ट पर 5 से 10 लिंक का कर सकते हैं।
आप इन लिंक्स के लिए तरीके से एंकर टैक्स ऑप्टिमाइज़ करें कर एसईओ रैंकिंग मदद करता है।
यह लिंक SEO के लिए बड़ा रैंकिंग फ़ैक्टर है। यह लिंक से लिंक वेबसाइट हाई रैंकिंग को फॉलो करता है।
इस लिंक से सर्च इंजन गूगल, याहू, बिंग के शीर्ष 10 खोज परिणाम आने में मदद करते हैं।
इस संबंध में कुछ अधिकार क्षेत्र है। कैसे अपका डोमेन का विकास होता है SEO रैंकिंग।
7. No Follow Link
No follow link अपकी की website में होना चाहिए। जिसे हम ठीक तरह से जानते नही हैं।

कुछ website spam वाली होती है इसीलिए हम इस लिंक का उपयोग करते हैं , जिससे हमारी website पर negative या किसी भी प्रकार का नकरात्मक दुष्प्रभाव ना पड़े।

इसमें link से लिंक जूस पास नही होता है लेकिन इस लिंक से website या blog कि page rank बढ़ जाती है। 

इसका उपयोग comment section के link मे उपयोग करते हैं। “on page seo hindi”

Now follow link syntax <a href=”smartknowledgesk.com” rel=”nofollow” > smartknowledgesk</a> 

8. What is UGC (User Generated Content) ?

ugc लिंक यह एक sponsorship लिंक हैं, जिसे स्पॉन्सरशिप लिंक के लिए उपयोग किया जाता है। यह sponsorship लिंक गूगल कि तरफ से new  backlink update  है। इसका उपयोग अधिकतर affiliate marketing वाली website में उपयोग किया जाता है। 

sponsor लिंक all type ads इसका भी उपयोग किया जाता है। लेकिन आप इन लिंक को सही तरीके से anchor tax optimize करे क्योंकि SEO ranking में help करता है। 

<a href=”smartknowledgesk.com” rel=”nofollow”  rel=”sopnser”> smartknowledgesk </a>

9. Page Speed Check

आपकी वेबसाइट जितनी फ़ास्ट या तेज होगी ब्राउज़र पर खुलने में उतनी ही अच्छी रैंकिंग सर्च इंजिन में रहती है। हम्म आपको बता दें की 

गूगल तेज open वाली website को ही टॉप ranking पर रखता है आप अपनी website के लिए  (AMP use) कर सकते हैं। जिससे आपकी वेबसाइट fast open हो सके। आप की website 75 % से 100% तक website page speed fast होनी चाहिए। 

अगर आप WordPress का उपयोग करते हैं तो आप plugin का उपयोग कर सकते हैं।  

WordPress.org में कई सारी plugin website की page speed को बाढने वाली plugin मिल जाएगी जो आपको free and paid में भी उपलब्ध है। इस समय गूगल page speed को बहुत महत्व दे रहा है। 

आप अपनी website को page speed check कुछ Tools के माघ्यम से आप page speed check कर सकते हैं। 

इसके लिए जो टूल्स हैं वो कुछ निचे दिए गए हैं।

Page Speed 

GT Metrix

Pingdom 

WordPress में आप amp plugin का प्रयोग कर सकते हैं।

10. Words Count important

अधिक शब्द पोस्ट वाली content को गूगल top पर यानि की उपर रैंक पर रखता है “Hindi on page SEO” में यह भी बहुत बड़ा ranking factor होता है। 

इसीलिए आप अपने Blog post पर अपने competitor से आधिक शब्द में अपना पोस्ट कंटेंट को लिखें। “on-page seo in hindi ” कम से कम  website में 1000 शब्द से लेकर 2000 शब्द या 4000 तक लिख सकते हैं जिससे on-page seo ranking boost होगी। इसके लिए कई सारे Tools हैं जिसके माघ्यम से आप चेक कर सकते हैं की आपका  ब्लॉग पोस्ट कितने वर्ड्स  के हैं।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.